इलाज – PAPAYA LEAF AND DENGUE

It could be a miracle cure for dengue. And the best part is you can make it at home.

The juice of the humble papaya leaf has been seen to arrest the destruction of platelets that has been the cause for so many deaths this dengue season. Ayurveda researchers have found that enzymes in the papaya leaf can fight a host of viral infections, not just dengue, and can help regenerate platelets and white

 blood cells.

Scores of patients have benefited from the papaya leaf juice, say doctors.

Papaya has always been known to be good for the digestive system. Due to its rich vitamin and mineral content, it is a health freak’s favourite. But its dengue -fighting properties have only recently been discovered.

Chymopapin and papin – enzymes in the papaya leaf – help revive platelet count, say experts. …

संस्कृति- गलतफहमी—-> हिन्दू धर्म में 33 करोड़ देवी-देवता हैं. ??

लोगों को इस बात की बहुत बड़ी गलतफहमी है कि…… हिन्दू सनातन धर्म में 33 करोड़ देवी-देवता हैं…!
लेकिन ऐसा है नहीं….. और, सच्चाई इसके बिलकुल ही विपरीत है…!

दरअसल…. हमारे वेदों में उल्लेख है …. 33″”कोटि”” देवी-देवता..!
अब “”कोटि”” का अर्थ””प्रकार”” भी होता है.. और ………… “”करोड़”” भी…!

तो… मूर्खों ने उसे हिंदी में…. करोड़ पढना शुरू कर दिया…… जबकि वेदों का तात्पर्य ….. 33 कोटि… अर्थात ….. 33 प्रकार के देवी-देवताओं से है…(उच्च कोटि.. निम्न कोटि….. इत्यादि शब्दतो आपने सुना ही होगा…. जिसका अर्थ भीकरोड़ ना होकर..प्रकार होता है)

ये एक ऐसी भूल है…. जिसने वेदों में लिखे पूरे अर्थ को ही परिवर्तित कर दिया….!
इसे आप इस निम्नलिखित उदहारण से और अच्छी तरह समझ सकते हैं….!
————— ——
अगर कोई कहता है कि……बच्चों को””कमरे में बंद रखा”” गया है…!
और दूसरा इसी वाक्य की मात्रा को बदल कर बोले कि…… बच्चों को कमरे में “” बंदर खा गया”” है…..!! (बंद रखा= बंदर खा)
————— ——

कुछ ऐसी ही भूल ….. अनुवादकों से हुई ….. अथवा… दुश्मनों द्वारा जानबूझ कर दिया गया…. ताकि, इसे HIGHLIGHT किया जा सके..!

सिर्फ इतना ही नहीं….हमारे धार्मिक ग्रंथों में साफ-साफउल्लेख है कि….””निरंजनो निराकारो..एको देवो महेश्वरः””….. …….. अर्थात…. इस ब्रह्माण्ड में सिर्फ एक ही देव हैं… जो निरंजन…निराका र महादेव हैं…!
साथ ही… यहाँ एक बात ध्यान में रखने योग्य बात है कि….. हिन्दू सनातन धर्म….. मानव की उत्पत्तिके साथ ही बना है….. और प्राकृतिक है…… इसीलिए … हमारे धर्ममें प्रकृति के साथ सामंजस्य स्थापित कर जीना बताया गया है…… और, प्रकृति को भी भगवान की उपाधि दी गयी है….. ताकि लोगप्रकृति के साथ खिलवाड़ ना करें….!
जैसे कि….

@@ गंगा को देवी माना जाता है…… क्योंकि … गंगाजल में सैकड़ों प्रकार की हिमालय की औषधियां घुली होती हैं..!

@@ गाय को माता कहा जाता है … क्योंकि …. गाय का दूध अमृततुल्य … और, उनका गोबर… एवंगौ मूत्र में विभिन्न प्रकार की… औषधीय गुण पाए जाते हैं…!

@@ तुलसी के पौधे को भगवान इसीलिए माना जाता है कि…. तुलसी के पौधे के हर भाग में विभिन्न औषधीय गुण हैं…!

@@ इसी तरह … वट और बरगद के वृक्ष घने होने के कारण ज्यादाऑक्सीजन देते हैं…. और, थके हुए राहगीर को छाया भी प्रदान करते हैं…!

यही कारण है कि…. हमारे हिन्दू धर्म ग्रंथों में ….. प्रकृति पूजा को प्राथमिकता दी गयी है…..क्योंकि, प्रकृति से ही मनुष्य जाति है…. ना कि मनुष्य जाति से प्रकृति है..!
अतः…. प्रकृति को धर्म से जोड़ा जाना और उनकी पूजा करना सर्वथा उपर्युक्त है…. !
यही कारण है कि…….. हमारे धर्म ग्रंथों में…. सूर्य, चन्द्र…वरुण…. वायु.. अग्नि को भी देवता माना गया है…. और, इसी प्रकार….. कुल 33 प्रकार के देवी देवता हैं…!
इसीलिए, आपलोग बिलकुल भी भ्रम में ना रहें…… क्योंकि… ब्रह्माण्ड में सिर्फ एक ही देव हैं… जो निरंजन…निराका र महादेव हैं…! —

.अतः कुल 33 प्रकार के देवता हैं……

12 आदित्य है —–>धाता,मित्, अर्यमा,शक्र,वरुण,अंश,भग , विवस्वान,पूषा,सविता,त्वष्टा,एवं विष्णु..!

8 वसु हैं……धर,ध्रुव,सोम,अह,अनिल,अनल,प्रत्युष,एवं.,प्रभाष

11 रूद्र हैं…हर ,बहुरूप.त्र्यम्बक.अपराजिता.वृषाकपि .शम्भू.कपर्दी..रेवत ..म्रग्व्यध.शर्व..तथा.कपाली.

2 अश्विनी कुमार हैं…..

कुल…………….12 +8 +11 +2 =33

Motivational Movie Speeches

Rocky Balboa To his Son

You ain’t gonna believe this, but you used to fit right here.

I’d hold you up to say to your mother, “This kid’s gonna be 

the best kid in the world. This kid’s gonna be somebody 

better than anybody I ever knew.” And you grew up good 

and wonderful. It was great just watching you, every day was 

like a privilige. Then the time come for you to be your own 

man and take on the world, and you did. But somewhere 

along the line, you changed. You stopped being you. You 

let people stick a finger in your face and tell you you’re no 

good. And when things got hard, you started looking for 

something to blame, like a big shadow. Let me tell you 

something you already know. The world ain’t all sunshine 

and rainbows. It’s a very mean and nasty place and I don’t 

care how tough you are it will beat you to your knees and 

keep you there permanently if you let it. You, me, or nobody 

is gonna hit as hard as life. But it ain’t about how hard ya hit. 

It’s about how hard you can get it and keep moving forward. 

How much you can take and keep moving forward. That’s 

how winning is done! Now if you know what you’re worth 

then go out and get what you’re worth. But ya gotta be 

willing to take the hits, and not pointing fingers saying you 

ain’t where you wanna be because of him, or her, or 

anybody! Cowards do that and that ain’t you! You’re better 

than that! I’m always gonna love you no matter what. No 

matter what happens.

You’re my son and you’re my blood. You’re the best thing in 

my life. But until you start believing in yourself, ya ain’t 

gonna have a life. Don’t forget to visit your mother

क्या आप जानते हैं साबूदाने की असलियत को ??


क्या आप जानते हैं साबूदाने की असलियत को ??

आमतौर पर साबूदाना शाकाहार कहा जाता है और व्रत, उपवास में इसका काफी प्रयोग होता है। लेकिन शाकाहार होने के बावजूद भी साबूदाना पवित्र नहीं है। क्या आप इस सच्चाई को जानते हैं ?

साबूदाना किसी पेड़ पर नहीं ऊगता । यह कासावा या टैपियोका नामक कन्द से बनाया जाता है । कासावा वैसे तो दक्षिण अमेरिकी पौधा है लेकिन अब भारत में यह तमिलनाडु,केरल, आन्ध्रप्रदेश और कर्नाटक में भी उगाया जाता है । केरल में इस पौधे को “कप्पा” कहा जाता है । इस कन्द में भरपूर स्टार्च होता है । यह सच है कि साबूदाना (Tapioca) कसावा के गूदे से बनाया जाता है परंतु इसकी निर्माण विधि इतनी अपवित्र है कि इसे शाकाहार एवं स्वास्थ्यप्रद नहीं कहा जा सकता।

साबूदाना बनाने के लिए सबसे पहले कसावा को खुले मैदान में बनी कुण्डियों में डाला जाता है तथा रसायनों की सहायता से उन्हें लम्बे समय तक गलाया, सड़ाया जाता है। इस प्रकार सड़ने से तैयार हुआ गूदा महीनों तक खुले आसमान के नीचे पड़ा रहता है। रात में कुण्डियों को गर्मी देने के लिए उनके आस-पास बड़े-बड़े बल्ब जलाये जाते हैं। इससे बल्ब के आस-पास उड़ने वाले कई छोटे मोटे जहरीले जीव भी इन कुण्डियों में गिर कर मर जाते हैं।

दूसरी ओर इस गूदे में पानी डाला जाता है जिससे उसमें सफेद रंग के करोड़ों लम्बे कृमि पैदा हो जाते हैं। इसके बाद इस गूदे को मजदूरों के पैरों तले रौंदा जाता है। इस प्रक्रिया में गूदे में गिरे हुए कीट पतंग तथा सफेद कृमि भी उसी में समा जाते हैं। यह प्रक्रिया कई बार दोहरायी जाती है। और फिर उनमें से प्राप्त स्टार्च को धूप में सुखाया जाता है । जब यह पदार्थ लेईनुमा हो जाता है तो मशीनों की सहायता से इसे छन्नियों पर डालकर गोलियाँ बनाई जाती हैं ,ठीक उसी तरह जैसे की बून्दी छानी जाती है ।

इन गोलियों को फिर नारियल का तेल लगी कढ़ाही में भूना जाता है और अंत में गर्म हवा से सुखाया जाता है । और मोती जैसे चमकीले दाने बनाकर साबूदाने का नाम रूप दिया जाता है
बस साबूदाना तैयार । फिर इन्हे आकार ,चमक, सफेदी के आधार पर अलग अलग छाँट लिया जाता है और बाज़ार में पहुंचा दिया जाता है । परंतु इस चमक के पीछे कितनी अपवित्रता छिपी है वह सभी को दिखायी नहीं देती।

तो चलिये उपवास के दिनों में ( उपवास करें न करें यह अलग बात हैं ) साबूदाने की स्वादिष्ट खिचड़ी ,या खीर या बर्फी खाते हुए साबूदाने की निर्माण प्रक्रिया को याद कीजिये और मित्रों से शेयर कीजिये ।

Interesting Quotes -2

                                                                       ****
Henry Ford, Founder of Ford Motor Company “If there is any one secret of success, it lies in the ability to get the other person’s point of view and see things from that person’s angle as well as from your own.” “A market is never saturated with a good product, but it is very quickly saturated with a bad one.” “Failure is the opportunity to begin again, more intelligently.”
                                                                         ****
It’s far better to buy a wonderful company at a fair price than a fair company at a wonderful price. 
                                     ****

“Know that everything is going to end some day .I am going to die some day. This one thought , can take you back to contentment.”

 ****
My formula for living is quite simple. I get up 

in the morning and I go to bed at night. In 

between, I occupy myself as best I can.

****
Life is like a railway waiting room. Too many 

departures. Too many arrivals. I wait for my 

train too.

*****